Haryana’s budget: विधानसभा में 23 को पेश होगा हरियाणा का बजट, अविश्वास प्रस्ताव लेकर आएगा विपक्ष

मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर व नेता प्रतिपक्ष भूपेंद्र सिंह हुड़्डा।

Share This Story

Share This Story

हरियाणा विधानसभा के 20 से शुरू होने वाला बजट सत्र हंगामेदार रहने की संभावना है। 23 फरवरी को मुख्यमंत्री एवं वित्त मंत्री प्रदेश का बजट विस में पेश करेंगे। 20 फरवरी को राज्यपाल के अभिभाषण से सत्र का शुभारंभ होगा। विपक्ष गठबंधन सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लेकर आएगा।

Haryana News। हरियाणा की मनोहर सरकार के दूसरे कार्यकाल का 20 फरवरी से शुरू होने वाला अंतिम विधानसभा सत्र हंगामेदार रहने की संभावना है। विपक्ष ने गठबंधन सरकार के खिलाफ विधानसभा में अविश्वास प्रस्ताव लाने का निर्णय लेकर इसके संकेत दे दिए हैं। 20 फरवरी को राज्यपाल के अभिभाषण के साथ विधानसभा के सत्र का शुभारंभ होगा। प्रदेश के मुख्यमंत्री एवं वित्त मंत्री मनोहर लाल 23 को प्रदेश का बजट विधानसभा में पेश करेंगे। 20 से 22 फरवरी तक विधानसभा में राज्यपाल के अभिभाषण पर चर्चा होगी। बुधवार को विधानसभा अध्यक्ष ज्ञानचंद गुप्ता की अध्यक्षता में मुख्यमंत्री मनोहर लाल और नेता प्रतिपक्ष भूपेंद्र हुड्डा के बीच हुई बैठक में सहमति बनी तथा विधानसभा अध्यक्ष ने यह जानकारी दी।

दोनों पक्षों से मिला सत्र सुचारू चलाने का आश्वासन

विधानसभा अध्यक्ष ज्ञानचंद गुप्ता ने बताया कि बैठक में आगामी सत्र को अच्छे तरीके से चलने को लेकर मुख्यमंत्री व नेता प्रतिपक्ष के साथ चर्चा हुई है। जिसमें दोनों तरफ से कुछ सुझाव भी दिए गए हैं। सरकार सरकार और विपक्ष की तरफ से सदन को सुचारू चलाने का आश्वासन भी मिला है। बैठक के दौरान जरूरत पड़ने पर पर सत्र की तारीखों में बदलाव करने पर भी सहमति बनी है। बजट के रीसस पीरियड को कम ज्यादा करने पर यदि कोई सुझाव आता है तो उसे पर भी फैसला किया जाएगा।

विधानसभा की सुरक्षा होगी चाक चौबंद

सदन के अंदर भी सुरक्षा इंतजाम चाक चौबंद रहेंगे। विजिटर गैलरी और सदन के बीच 8 फीट की ग्लासवाल लगाया जाएगा। इसके साथ ही हरियाणा पुलिस और चंडीगढ़ पुलिस की सुरक्षा के बीच सत्र चलेगा। सत्र से पहले स्पीकर पंजाब, हरियाणा और चंडीगढ़ के पुलिस अधिकारियों की बैठक भी लेंगे और सुरक्षा को लेकर समीक्षा भी करेंगे।

अविश्वास प्रस्ताव पर 15 विधायकों का समर्थन जरूरी

विधानसभा अध्यक्ष ने कहा कि विपक्ष यदि अविश्वास प्रस्ताव सदन में लाना चाहता है तो उसके लिए 15 विधायकों का समर्थन जरूरी है। जिन्हें सदन में खड़ा होकर अविश्वास प्रस्ताव का समर्थन करना पड़ेगा।

गठबंधन सरकार के खिलाफ अविश्वास लेकर आएगी कांग्रेस : हुड्डा;

 

 

नेता प्रतिपक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने कहा कि 20 को शुरू होने वाले सत्र में घोटाले, बेरोजगारी, अपराध, किसान, एससी-बीसी, शिक्षा, स्वास्थ्य व सड़क जैसे मुद्दों का उठाया जाएगा। सोनीपत के गोहाना व रोहतक के सांपला में हुई फायरिंग ने प्रदेश में कानून व्यवस्था की पोल खोल दी है। ग्रुप सी के मामलों में अभ्यार्थियों की शिकायतों पर भी सरकार को संज्ञान लेना चाहिए। सरकार से हर वर्ग परेशान है तथा हर मामले में विफल रही है। जिसे देखते हुए विधायकों के साथ बैठक में हमने सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाने का निर्णय लिया है।

इन पर सरकार से मांगा जाएगा जवाब

भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने बताया कि सत्र के दौरान पार्टी की तरफ से सहकारिता, आयुष्मान, खनन और एफपीओ समेत विभिन्न घोटालों के मुद्दे को उठाया जाएगा। साथ ही प्रदेश में बढ़ती बेरोजगारी, कौशल रोजगार निगम की गड़बड़ियों, युवाओं को युद्ध क्षेत्र इजराल में भेजने, हरियाणा की भर्तियों में बाहरियों को प्राथमिकता देने, भर्ती घोटालों और अग्निपथ योजना जैसे मुद्दों पर भी सरकार से जवाब मांगा जाएगा।

प्रदेश में चरम पर अपराध और भ्रष्टाचार

उन्होंने कहा कि प्रदेश में बढ़ते नशे, एससी-बीसी बच्चों का वजीफा बंद होने, एससी वर्ग की योजनाओं, शिक्षा के गिरते स्तर, किसानों की स्थिति, मौसम की मार, बाढ़ के मुआवजे, परिवार पहचान पत्र की गड़बड़ियों, सड़कों की खस्ता हालत और अल्पसंख्यकों के मुद्दों को भी प्रमुखता के साथ उठाया जाएगा। अलग-अलग मुद्दों को लेकर विधायकों की जिम्मेदारी निर्धारित कर दी गई है। विधायकों सदन में स्थगन व ध्यानाकर्षण प्रस्ताव लेकर आएंगे।

भर्तियों में हो रही धांधली

पत्रकारों के सवालों का जवाब देते हुए भूपेंद्र हुड्डा ने कहा कि आने वाले बजट से जनता को कोई उम्मीद नहीं है। क्योंकि इस सरकार ने प्रदेश पर कर्जा बढ़ाने के अलावा कोई कार्य नहीं किया। ग्रुप-सी की भर्ती में लगे धांधली के आरोपों पर हुड्डा ने कहा कि सरकार को युवाओं द्वारा की जा रही शिकायतों का संज्ञान लेना चाहिए। भर्तियों में लगातार सामने आ रही अनियमितताएं पीड़ादायक हैं।

गोहाना व सांपला की घटना से खोली कानून व्यवस्था की पोल 

प्रदेश में बढ़ रही फिरौती और फायरिंग की वारदातों पर बोलते हुए हुड्डा ने कहा कि बीजेपी-जेजेपी सरकार ने कानून व्यवस्था का दिवाला निकाल दिया है। अपराधी बेखौफ हैं और जनता डर के साये में जी रही है। गोहाना में मातूराम की जलेबी वाले को मिली फिरौती की धमकी के बाद रोहतक और सांपला में भी ऐसे मामले सामने आ चुके हैं। सांपला में सीता राम हलवाई की दुकान पर बदमाशों द्वारा फायरिंग की गई, जिससे इलाके में लोग डरे हुए हैं। वह खुद सांपला जाएंगे और दुकानदारों व स्थानीय लोगों से मिलेंगे।

Join Channels

Share This Story

The Bombay Tribune Hindi

फॉलो करें हमारे सोशल मीडिया

Recent Post

वोट करें

What does "money" mean to you?
  • Add your answer